35.1 C
Delhi
Thursday, July 7, 2022

फरीदाबाद में हुआ अंडर-18 नेशनल रैंकिंग टेनिस चैंपियनशिप का आयोजन, खिलाडियों ने दिखाया धमाकेदार प्रदर्शन

सेक्टर-12 में चल रही अंडर-18 नेशनल रैंकिंग टेनिस चैंपियनशिप में हन्ना नागपाल ने सौम्या आर्या को 6-2, 6-0 से हराया। आरुषि मनचंदा...
More

    Latest Posts

    फरीदाबाद में सीवर लीकेज से परेशान हैं शहरवासी, सीएम विंडो पर शिकायत के बावज़ूद नहीं हुई कार्यवाही

    फरीदाबाद में कई जगहों पर लोग सीवर जाम और सड़कों पर पानी जाम से परेशान हैं। आपको बता दें फरीदाबाद बड़खल विधानसभा...

    छह लेन सड़क बनाने के लिए तोड़ी गई पार्क की दीवार, लेकिन बन्द पड़ा है कार्य

    फरीदाबाद में कुछ जगहों पर जहाँ एक ओर नये पार्क बनाये जा रहे हैं, पार्क को साफ सुथरा बनाया जा रहा है...

    फरीदाबाद के इस अस्पताल का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे उद्घाटन, तैयारियाँ की जा रही है पूरी

    ग्रेटर फरीदाबाद में मां अमृतानंदमयी अस्पताल का निर्माण किया जा रहा है। आपको बता दें इस अस्पताल का उद्घाटन करने प्रधानमंत्री नरेंद्र...

    फरीदाबाद के इन दो तालाबों का होगा कायाकल्प, बनाया जायेगा अमृत सरोवर, खर्च होंगे 2.73 करोड़

    फरीदाबाद के दो तालाबों को अमृत सरोवर बनाने की हो रही है तैयारी। आपको बता दें केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर...

    कुछ बड़ा करने के प्रण लेकर निकले थे घर से, माँ के दिए 25 रुपये खड़ी कर ली 7,000 करोड़ की कंपनी

    ब्रिटिशकालीन भारत में 1898 में जन्में मोहन सिंह ओबेरॉय अब इस दुनिया में नहीं हैं, लेकिन उनकी विरासत और उनका होटल साम्राज्य आज भारत के साथ ही श्रीलंका, नेपाल, ऑस्ट्रेलिया और हंगरी जैसे देशों में फैला हुआ है। झेलम जिले के भाऊन में एक सामान्य से परिवार में जन्में मोहन सिंह जब केवल छह माह के थे तभी उनके सर से पिता का साया उठ गया था।

    ऐसी हालत में घर चलाने और बच्चों को पालने की जिम्मेदारी उनकी मां के कंधों पर आ गई। एक महिला पर सारो जिम्मेदारी आना कोई आसान बात नहीं थी। उस समय मोहन ने सरकारी कॉलेज में दाखिला लिया। कॉलेज में पढ़ाई पूरी करने के बाद नौकरी की तलाश में जुट गए लेकिन नौकरी नहीं मिली।

    नौकरी को लेकर मोहन को काफी संघर्ष करना पड़ा। इसी बीच गाँव के लोगों के दबाव के चलते उनका विवाह भी हो गया। उनका विवाह कलकत्ता के एक परिवार में हुआ था। विवाह के बाद मोहन सिंह ओबरॉय का ज्यादातर समय ससुराल में ही बीतने लगा था। ऐसे में जब वह एक बार अपने घर आए तो पता लगा कि पूरे गाँव में प्लेग फैल चुका है। जिससे गाँव के कई लोग जान गंवा चुके हैं।

    हालातों को देखते हुए ओबेराय की माँ ने उन्हें वापिस ससुराल लौट जाने की सलाह दी। माँ ने कहा कि वह फिलहाल ससुराल में रहकर ही कुछ काम-धंधा करें लेकिन किस्मत इतनी खराब थी कि बिना नौकरी के ही उन्हें मजबूरन ससुराल में रहना पड़ा। ओबेरॉय उन दिनों को याद करते हुए आगे बताते हैं कि ससुराल में एक दिन उन्होंने देखा कि अख़बार में एक सरकारी नौकरी का विज्ञापन छपा हुआ है। विज्ञापन क्लर्क के एक पद के लिए था जिसकी मोहन सिंह ओबरॉय योग्यता रखते थे।

    इस विज्ञापन को देखने बाद मोहन सिंह ओबरॉय बिना कुछ सोचे समझे सीधा शिमला निकल गए। शिमला में वह एक होटल को देखकर वह काफी प्रभावित हुए और उस होटल के मैनेजर से नौकरी के बारे में पूछा। मैनेजर ने उनसे प्रभावित होकर 40 रुपये की मासिक सैलरी पर रख लिया। मोहन सिंह ओबेराय सिसिल होटल में मैनेजर, क्लर्क, स्टोर कीपर सभी कार्यभार खुद ही संभाल लेते थे और अपने प्रयत्नों और कड़ी मेहनत से उन्होंने ब्रिटिश हुक्मरानों का दिल जीत लिया था।

    ब्रिटिश मैनेजर इरनेस्ट क्लार्क छह महीने की छुट्टी पर लंदन गए तो वह सिसिल होटल का कार्यभार मोहन सिंह ओबराय को सौंप गए। मोहन सिंह ने इस दौरान होटल के औकुपैंसी को दोगुना कर दिया। धीरे-धीरे उनकी सैलरी बढ़कर 50 रुपये हो गई और रहने के लिए एक क्वॉर्टर भी मिल गया।

    वह अपनी पत्नी के साथ वहां रहने लगे। समय ऐसे ही गुजरता रहा और एक दिन होटल के मैनेजर क्लार्क ने मोहन सिंह ओबरॉय के सामने नई पेशकश रखी। वह चाहते थे कि सिसिल होटल को 25,000 रुपए में मोहन सिंह ओबरॉय खरीद लें। मोहन सिंह ओबरॉय ने इसके लिए उनसे कुछ समय मांगते हुए होटल खरीदने की हामी भर दी।धीरे-धीरे मोहन सिंह देश के सबसे बड़े होटल उद्योगपति बन गए। ओबेरॉय होटल ग्रुप सबसे बड़ा होटल ग्रुप माना जाता है और इस ग्रुप का टर्नओवर 1,500 करोड़ के करीब है।

    Latest Posts

    फरीदाबाद में सीवर लीकेज से परेशान हैं शहरवासी, सीएम विंडो पर शिकायत के बावज़ूद नहीं हुई कार्यवाही

    फरीदाबाद में कई जगहों पर लोग सीवर जाम और सड़कों पर पानी जाम से परेशान हैं। आपको बता दें फरीदाबाद बड़खल विधानसभा...

    छह लेन सड़क बनाने के लिए तोड़ी गई पार्क की दीवार, लेकिन बन्द पड़ा है कार्य

    फरीदाबाद में कुछ जगहों पर जहाँ एक ओर नये पार्क बनाये जा रहे हैं, पार्क को साफ सुथरा बनाया जा रहा है...

    फरीदाबाद के इस अस्पताल का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे उद्घाटन, तैयारियाँ की जा रही है पूरी

    ग्रेटर फरीदाबाद में मां अमृतानंदमयी अस्पताल का निर्माण किया जा रहा है। आपको बता दें इस अस्पताल का उद्घाटन करने प्रधानमंत्री नरेंद्र...

    फरीदाबाद के इन दो तालाबों का होगा कायाकल्प, बनाया जायेगा अमृत सरोवर, खर्च होंगे 2.73 करोड़

    फरीदाबाद के दो तालाबों को अमृत सरोवर बनाने की हो रही है तैयारी। आपको बता दें केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर...

    Don't Miss

    बेटी के साथ जो हुआ उसे सुनकर बौखला गया पिता, उतार दिया 6 लोगों को मौत के घाट

    रेप के मामले तो आये दिन सुनने को मिलते रहते है। जब बेटी से रेप के मामले सुनने को मिलते है तो...

    महामारी से संक्रमित व्यक्ति ने अस्पताल में की शादी, PPE किट पहनकर आई दुल्हन

    महामारी ने पूरी दुनिया में तबाही मचा रखी है। दुनिया भर में कई लोग इससे संक्रमित हुए और कइयों ने जान गवां...

    दिल्ली वालों के लिए खुशखबरी, ऐसा करने पर खाना और मिठाई मिलेगी फ्री

    अब दिल्ली वासियों के लिए एक अच्छी खबर जहां स्वच्छ भारत के तहत दिल्ली में प्लास्टिक मुक्त मुहिम शुरू की गई है।...

    फरारी के मालिक से बेइज्‍जती का बदला लेने के लिए किसान के बेटे ने बना डाली थी लम्‍बोर्गिनी

    जब-जब बात लग्जरी कारों की होगी तो उसमें लैंबॉर्गिनी का नाम भी जरूर लिया जाएगा। लैंबॉर्गिनी दुनिया की मशहूर लग्जरी और स्पोर्ट्स...

    12 साल के करियर में रणवीर सिंह ने दी सिर्फ 6 HIT, फिर भी नए हीरोज को इस मामले में देते हैं मात

    रणवीर सिंह (ranveer singh) 6 जुलाई को 37 साल के हो जाएंगे। उनका जन्म 1985 को मुंबई में हुआ था। रणवीर पिछले...

    Stay in touch

    To be updated with all the latest news, offers and special announcements.