18.1 C
Delhi
Wednesday, February 28, 2024
More

    Latest Posts

    हरियाली तीज की हरियाली भी पड़ जाए इन 5

    हिंदू पंचांग के अनुसार, प्रत्येक वर्ष सावन माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि पर तीज का त्योहार मनाया जाता है। इसे हरियाली तीज या श्रावणी तीज भी कहते हैं। सुहागिन महिलाएं पति की लंबी आयु के लिए निर्जला व्रत रखती हैं। सुहागिन महिलाओं के अलावा कुंवारी लड़कियां भी अच्छे वर की कामना के साथ यह व्रत रखती हैं।

    1. रबड़ी

    रबड़ी भारत की एक पारंपरिक स्वीट डिश है. इसे वैसे तो किसी भी मौके पर बनाकर खाया जा सकता है लेकिन व्रत के दौरान इसे काफी पसंद किया जाता है।रबड़ी एक प्रकार का पकवान है जो दूध को खूब उबाल कर व उसे गाढ़ा करके बनाया जाता है।

    भावप्रकाशनिघण्टु के अनुसार बिना जल छोड़े दूध को जितना ही अधिक औटाया जाये वह उतना ही अधिक गुणकारी, स्निग्ध (तरावट देने वाला), बल एवं वीर्य को बढ़ाने वाला हो जाता है। इसमें यदि खाँड या चीनी मिला दी जाये तो रबड़ी या राबड़ी बन जाती है।

    इसे बनाने के लिए दूध को काफी वक्त तक उबाला जाता है, इससे जमने वाली मलाई को इकट्ठा कर बाद में चीनी मिक्स की जाती है।

    2. घेवर

    राजस्थान राजपूतों के साथ ही अपनी विशेष खान-पान की शैली के लिए भी काफी प्रसिद्ध है। स्वीट डिश के तौर पर राजस्थानी घेवर काफी पसंद किया जाता है।इसे आटे, घी और चाशनी से तैयार किया जाता है।

    घेवर का आविष्कार जयपुर के लक्ष्मी मिष्ठान भंडार ने 1961 में किलो मैदा और क्विंटल दूध के साथ प्रयोग करके किया था। विवाहित बेटी के परिवार को घेवर उपहार में देना राजस्थान की परंपराओं में से एक है जिसे सिंझारा के नाम से जाना जाता है।

    जो तीज और गणगौर से एक दिन पहले आता है।सावन के महीने में और हरियाली तीज पर व्रत के दौरान सूजी से बने घेवर का प्रयोग किया जा सकता है।

    3. मालपुआ

    भारतीय पारंपरिक मिठाइयों में से एक मालपुआ को काफी पसंद किया जाता है। घी में डूबा हुआ मालपुआ स्वाद में लाजवाब होता है।ओडिशा, पश्चिम बंगाल और महाराष्ट्र में ये डिश खासतौर पर बनाकर खायी जाती है।

    मालपुआ या अपूप एक प्रकार का पकवान है जो मैदा, खोया व चीनी से बनाया जाता है। मालपुआ एक प्रकार का पैनकेक है जो एक भोजन के अंत में परोसे गए मिठाई की तरह या एक नाश्ता की तरह परोसा जाता है।

    यह भारत और बांग्लादेश में काफी लोकप्रिय है। भगवान जगन्नाथ को भी मालपुआ भोग में चढ़ाया जाता है।

    4. सूजी हलवा

    सूजी हलवा एक पारंपरिक स्वीट डिश है जो किसी भी खुशी के मौके या तीज-त्यौहार पर बनाई जा सकती है।इसमें सूजी के साथ ही घी और ड्राई फ्रूट्स का प्रयोग किया जाता है। ये एक बेहद आसान और झटपट तैयार होने वाली स्वीट डिश है।

    5.केसरिया भात

    स्वीट डिश के तौर पर केसरिया भात को भी बनाकर खाया जा सकता है । जब कभी मुंह मीठा करने का मन हो लेकिन बाजार की मिठाइयों को नहीं खाना चाहते हैं तो केसरिया भात को आसानी से बनाया जा सकता है। ये रेसिपी भी बेहद स्वादिष्ट होती है।

    Latest Posts

    Don't Miss

    Stay in touch

    To be updated with all the latest news, offers and special announcements.