32.1 C
Delhi
Sunday, June 20, 2021

क्या आप जानते हैं महाशिवरात्रि का गृहस्थ और साधकों के लिए पूजा का अलग अलग मुहूर्त और शुभ योग

महाशिवरात्रि 2021 साल का वह पावन दिन है जिस दिन भक्त महादेव और शक्ति स्वरूपा माता पार्वती को प्रसन्न करने के लिए...
More

    Latest Posts

    20 साल में 40 बार मिला ट्रांसफर, फिर भी नही मानी इस दबंग महिला अफसर ने हार

    जी हां दोस्तों, डी रूपा, एक ऐसा नाम, जिसके बारे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं। डी रूपा ने जब...

    सभी रिश्तों पर रखे गए है इन रेलवे स्टेशन के नाम, पर माँ के नाम पर कोई स्टेशन नहीं

    दोस्तों रिश्ते बहुत अहमियत रखते हैं हर किसी के जीवन में। जीवन है तो रिश्ते हैं, जीवन नहीं तो रिश्ते नहीं। रिश्ते...

    कुदरत के फरिश्ते: चेन्नई की 12 ट्रांसवुमेन जो गरीबो को खिलाते है भरपेट खाना

    जी हां दोस्तों बिल्कुल सही सुना आपने। जो आप पढ़ रहे हैं ये ही सच्चाई है। जिन लोगों को आम इंसान भी...

    प्रेमिका की शादी में प्रेमी पहुँचा कुल्हाड़ी लेकर, और जयमाला के समय कर दिया ऐसा काम

    एकतरफा प्यार एक-दूसरे को किसी भी स्टेज तक लेकर जा सकता है। जो लोग एकतरफा प्यार करते हैं, वो लोग हमेशा खतरे...

    किसान आंदोलन पर सरकार की बड़ी जीत, ऐसा खेला मास्टर स्ट्र्रोक किसान हुए सोचने को मजबूर

    किसान और केंद्र सरकार इन दोनों के बीच कई दिनों से कृषि बिल को लेकर विवाद चल रहा है. दोनों के बीच इस मसले को सुलझाने के लिए कई दौर की बातचीत भी हुई लेकिन सभी बेनतीजा ही निकली. किसान और सरकार के बीच बुधवार को एक बार फिर बात हुई, इस बार सरकार ने बड़ा स्टैंड ले लिया है.

    दोनों के बीच यह दसवें दौर की यह मीटिंग बेहद अलग और अहम रही. कानूनों को होल्ड पर रखने का बड़ा प्रस्ताव देते हुए केंद्र सरकार ने खेल बदलते हुए डेढ़ साल तक यह बाज़ी किसानों के हाथ में दे दी है.

    केंद्र द्वारा लिए गए इस फैसले पर किसान नेता भी सोचने के लिए मजबूर हो गए हैं. इसकी सबसे बड़ी वजह यह है कि किसान नेताओं ने गुरुवार को इस मामले में बैठक कर सरकार के प्रस्ताव पर चर्चा करने के लिए कहा है.

    गौरतलब है कि 22 जनवरी को फिर होने वाली बैठक में किसान नेता केंद्र सरकार के फैसले पर अपना जवाब देंगे. अगर किसान सरकार के इस प्रस्ताव से सहमत होते है तो, मुमकिन है ये किसान आंदोलन ख़त्म हो सकता है.

    बुधवार को ढाई बजे से बैठक शुरू होने से पहले रेल मंत्री पीयूष गोयल और केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने देश के गृहमंत्री अमित शाह के घर जाकर मीटिंग की. बता दें कि गृहमंत्री के घर पर दसवें दौर की बैठक को लेकर यह खास तरह की रणनीति बनी.

    जानकारी के मुताबिक इस दौरान सरकार की तरफ से अब तक का सबसे बड़ा स्टैंड लेने का फैसला किया गया.

    मंत्रियों के बीच बात हुई कि 26 जनवरी से पहले किसानों का आंदोलन ख़त्म करने और उसे रोकने के लिए यही एकमात्र रास्ता है कि किसानों के सामने कानूनों को कम से कम एक से डेढ़ साल तक के लिए रोका जाए और साथ ही इस दौरान दोनों पक्षों की बातचीत जारी रहे.

    यह प्रस्ताव कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और रेल मंत्री पीयूष गोयल ने किसान नेताओं के समक्ष भी रखा. कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बैठक में किसान नेताओं से कहा कि कृषि सुधार कानूनों को सरकार एक से डेढ़ वर्ष तक रोक सकती है.

    किसान नेताओं और सरकार के बेच यह बैठक लगभग साढ़े पांच घंटे तक चली. उन्होंने बताया कि यह प्रस्ताव इसलिए रखा गया ताकि कड़ाके की ठंड में किसान अपने घर पर रहकर आराम कर सकें और सरकार इस बीच इस बारे में सोच सकें. कृषि मंत्री ने साथ ही कहा, जिस दिन किसानों का आंदोलन समाप्त होगा, उस दिन भारतीय लोकतंत्र के लिये जीत होगी.

    आपको बता दें कि कृषि मंत्री तोमर ने 22 जनवरी को होने वाली अगली बैठक में किसानों का विरोध प्रदर्शन समाप्त होने की सहमति तैयार होने को लेकर बात कही है. ज्ञात होकि सरकार और किसानों के बीच का यह मामला कोर्ट भी पहुंच गया है.

    कोर्ट ने भी इस मामले को सुलझाने के लिए कमेटी बनाया है. आज किसान नेता अपनी मेटिंग करने वाले है, जिसमे वह सरकार के इस प्रस्ताव पर चर्चा करेंगे. इसके बाद अगली मीटिंग में वह अपना निर्णय सुनायेंगे.

    Latest Posts

    20 साल में 40 बार मिला ट्रांसफर, फिर भी नही मानी इस दबंग महिला अफसर ने हार

    जी हां दोस्तों, डी रूपा, एक ऐसा नाम, जिसके बारे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं। डी रूपा ने जब...

    सभी रिश्तों पर रखे गए है इन रेलवे स्टेशन के नाम, पर माँ के नाम पर कोई स्टेशन नहीं

    दोस्तों रिश्ते बहुत अहमियत रखते हैं हर किसी के जीवन में। जीवन है तो रिश्ते हैं, जीवन नहीं तो रिश्ते नहीं। रिश्ते...

    कुदरत के फरिश्ते: चेन्नई की 12 ट्रांसवुमेन जो गरीबो को खिलाते है भरपेट खाना

    जी हां दोस्तों बिल्कुल सही सुना आपने। जो आप पढ़ रहे हैं ये ही सच्चाई है। जिन लोगों को आम इंसान भी...

    प्रेमिका की शादी में प्रेमी पहुँचा कुल्हाड़ी लेकर, और जयमाला के समय कर दिया ऐसा काम

    एकतरफा प्यार एक-दूसरे को किसी भी स्टेज तक लेकर जा सकता है। जो लोग एकतरफा प्यार करते हैं, वो लोग हमेशा खतरे...

    Don't Miss

    क्या आप जानते हैं की व्हिस्की, वोदका, बियर, ब्रांडी और वाइन में क्या अंतर होता है

    शराब का सेवन सेहत के लिए हानिकारक है यह जानते हुए भी देशभर के करीब 15 प्रतिशत लोग शराब पीते हैं। नशीले...

    लड़कियों के घुटनों और पैरों के अंतर को देख पता करें की कैसा होगा उनका स्वभाव, कितनी है धनवान

    सामुद्रिक शास्त्र में व्यक्ति के शरीर के अंगों और शरीर की बनावट के आधार पर उसके स्वभाव के बारे में बताया जाता...

    महामारी के कारण फिर से एक हुआ बिछड़ा हुआ परिवार, 20 साल बाद अपनी पत्नी और बच्चे से मिला युवक

    महामारी के संक्रमण की दूसरी लहर ने देश में हाहाकार मचा दिया है। कई राज्‍यों में नाइट कर्फ्यू और वीकेंड लॉकडाउन के बाद...

    दिनभर YouTube देखता था 11 वर्ष का बच्चा, अपने ही मां-बाप की खींची गंदी तस्वीर, फिर…

    आज के समय में तकनीकी में बड़ा बदलाव आया है। बच्चे से बूढ़े तक लोग मॉडर्न हो रहे है। ऐसे में महामारी...

    अब लिपस्टिक से ही चल जाएगी गोलिया… महिलाएं रहेगी सुरक्षित

    आज के समय में भी लड़कियां सुरक्षित नहीं है। आए दिन लड़कियों से दुष्कर्म के मामले सामने आते रहते है। जिसके बाद...

    Stay in touch

    To be updated with all the latest news, offers and special announcements.