21.1 C
Delhi
Tuesday, October 19, 2021

खिलौने वाली बंदूक लेकर पति-पत्नी पहुंचे ज्वेलरी शॉप लूटने, जानिये फिर क्या हुआ

आज - कल का ज़माना बदल रहा है। बच्चों की बंदूक लेकर चोरी होने लगी है। आपने चोरी-डकैती के बहुत से किस्से...
More

    Latest Posts

    राज कुंद्रा की जमानत पर पति को इतने दिनों बाद देख भावुक हुई शिल्पा, इस तरह बयान किया दर्द

    शिल्पा शेट्टी के पति और बिजनेसमैन राज कुंद्रा कई दिनों से पोर्नोग्राफी मामले में पुलिस हिरासत में है. अब आखिरकार उन्हे जमानत...

    जब घर बुलाकर Jaya Bachchan ने Rekha से कही थी ऐसी बात,जिसके बाद टूट गया था अमिताभ और रेखा का रिश्ता

    ये इश्क की कहानी आज तक चर्चित है, और शायद आगे भी रहेगी।बतादें, बॉलीवुड की अधूरी प्रेम कहानी का जिक्र जब भी...

    देश में पहली बार : कर्नाटक का सरकारी स्कूल बनेगा सैटेलाइट डिजाइनिंग का हिस्सा,इसरो करेगा मदद

    जी हाँ, ये बात बिल्कुल सही है और इन बच्चों की मदद इसरो करेगा। बतादें, इसरो अब तक छात्रों के 6 सैटेलाइट...

    इस रहस्यमय कुंड में ताली बजाते ही ऊपर उठने लगता है पानी, बड़े-बड़े वैज्ञानिक भी मानते हैं इसे ‘कुदरत का करिश्मा’

    सचमुच दुनिया बड़ी ही करिश्माई है। जिसे जान गए वो आविष्कार और जिसे नहीं पता कर पाए वो चमत्कार। दरअसल, दुनिया में...

    एक ऐसा अस्पताल जिसके बारें में जानकर हो जाऔगे दंग

    इंसानों के अस्पताल तो बहुत मिल जाएंगे लेकिन पक्षियों के अस्पताल मिलना मुश्किल हो जाता है। गिने-चुने अस्पताल ही हैं जहां पक्षियों का इलाज किया जाता है। अब पक्षियों में भी कोई कहे कि सिर्फ बाजों का अस्पताल तो सुनने में अजीब लग सकता है लेकिन अबू धाबी में ऐसा ही एक अस्पताल है। यहां बाजों को ए-क्लास सहूलियतें और इलाज मिलता है।

    लोगों के लिए यह किसी टूरिस्ट प्लेस से कम नहीं है। लोग दूर-दूर से इसे देखने आते हैं। आपको बता दे कि इलाज के लिए अस्पताल में बाजों का वेटिंग रूम, इमरजेंसी मेडिकल वार्ड और ऑपरेशन थिएटर भी हैं। अरब देशों में बाज पालना अमीरी को दर्शाता है।

    जब भी कोई बाज बीमार होता है, तब लोग उसे इलाज के लिए इस अस्पताल में लाते हैं। वहीं यह अस्पताल 1999 में खोला गया था और यहां संयुक्त अरब अमीरात, सऊदी अरब, कतर और कुवैत से पक्षियों को लाया जाता है।

    प्रारंभ में यह बाजों के इलाज के लिए बनाया गया था लेकिन 2006 में इसे सभी पक्षियों और पोल्ट्री के इलाज के लिए एवियन (पक्षियों) अस्पताल बना दिया गया। अबूधाबी के अमीरात में यह एक बड़ा पर्यटन आकर्षण भी है।

    यहां पर बाज को एक पवित्र पक्षी माना जाता है और यहां के युवाओं में बाज पालन बहुत लोकप्रिय है। यहां पक्षियों को वेटिंग रूम में ‍बैठाया जाता है और यहां डॉक्टर इन पक्षियों का हैल्थ चेक करते हैं। यह चौबीसों घंटे खुला रहता है और यहां पर इंटेंसिव केयर यूनिट में रखे जाने के अलावा बहुत सारी बीमारियों का इलाज किया जाता है।

    अबू धाबी के नजदीक के बाज तो यहां आते ही हैं, उसके आसपास के गल्फ रीजन जैसे सउदी अरब, कतर और कुवैत से भी बाजों को यहां इलाज के लिए लाया जाता है।

    Latest Posts

    राज कुंद्रा की जमानत पर पति को इतने दिनों बाद देख भावुक हुई शिल्पा, इस तरह बयान किया दर्द

    शिल्पा शेट्टी के पति और बिजनेसमैन राज कुंद्रा कई दिनों से पोर्नोग्राफी मामले में पुलिस हिरासत में है. अब आखिरकार उन्हे जमानत...

    जब घर बुलाकर Jaya Bachchan ने Rekha से कही थी ऐसी बात,जिसके बाद टूट गया था अमिताभ और रेखा का रिश्ता

    ये इश्क की कहानी आज तक चर्चित है, और शायद आगे भी रहेगी।बतादें, बॉलीवुड की अधूरी प्रेम कहानी का जिक्र जब भी...

    देश में पहली बार : कर्नाटक का सरकारी स्कूल बनेगा सैटेलाइट डिजाइनिंग का हिस्सा,इसरो करेगा मदद

    जी हाँ, ये बात बिल्कुल सही है और इन बच्चों की मदद इसरो करेगा। बतादें, इसरो अब तक छात्रों के 6 सैटेलाइट...

    इस रहस्यमय कुंड में ताली बजाते ही ऊपर उठने लगता है पानी, बड़े-बड़े वैज्ञानिक भी मानते हैं इसे ‘कुदरत का करिश्मा’

    सचमुच दुनिया बड़ी ही करिश्माई है। जिसे जान गए वो आविष्कार और जिसे नहीं पता कर पाए वो चमत्कार। दरअसल, दुनिया में...

    Don't Miss

    चाय बेचने वाले ने शुरू की एलो वेरा की खेती, अब अपने बिज़नेस से कमा रहा है लाखों

    अगर आपके पास नौकरी नहीं है और आप घर बैठे कारोबार करने की सोच रहे हैं तो आप एलोवेरा की खेती करके...

    अपने होने वाले पति को इस स्तिथि में देखकर दुल्हन हुई अचंभित, मंडप पर ही कर दिया शादी से मना

    शादी का फैसला हर व्यक्ति के जीवन का एक अहम फैसला होता है। अपनी शादी को लेकर लोग उत्साहित रहते हैं और...

    अंटार्टिका में बजी खतरे की घंटी, वैज्ञानिक हाई अलर्ट पर

    मुसीबतों का पहाड़ साल 2020 से टूटना शुरू हुआ है। जो अभी तक जारी है, क्योंकि कोरोना कोई बीमारी नहीं बल्कि महामारी...

    पहले अग्नि के सामने खाई 7 जन्मो की कसम, फिर कुछ ही पलो मे फरार हो गयी दुल्हन

    कुछ लोग इतने संवेदनहीन होते हैं कि वो अपने जीवन में कुछ अच्छे फैसले भी नहीं लेते हैं। और सबसे बड़ी बात...

    पुलिस में कांस्टेबल से लेकर कई बार जेल की हवा खाने के बाद,अब किसानों के नेता बनें राकेश टिकैत

    इस कहानी को सुनने समझने से पहले, आप देखिए कि इस समय किसान नेता राकेश टिकैत कर क्या रहे हैं। बतादें कि...

    Stay in touch

    To be updated with all the latest news, offers and special announcements.