29.1 C
Delhi
Tuesday, August 16, 2022

Khuda Haafiz Chapter II Movie Review : 5 साल की बेटी से गैंगरेप- हत्या का बदला ले रहे विद्युत , ऐसी है फिल्म

मोस्ट अवैटेड फिल्म 'खुदा हाफ़िज़ चैप्टर 2 : अग्नि परिक्षा' में एक बार फिर विद्युत जामवाल एक्शन का तड़का लगाते नज़र आ...
More

    Latest Posts

    टीचर के जज्ज़्बे को सलाम, एक हाथ में बच्चा लिए और एक हाथ में कलम लिए सवार रही है बच्चो का जीवन

    ऐसा समझा जाता है कि मां बनने के बाद औरत कमजोर हो जाती है और वह अपने लिए कोई सपने नहीं देख...

    प्लास्टिक बॉटल के माइक ने खोल दी सरकारी स्कूल की पोल …. जानिए कहानी

    भारत में गांव के सरकारी स्कूल की हालत भला किसी से कहां छुपी है , ऐसे में गोड्डा नाम के एक...

    महिला ने किया कपड़े के बने गुड्डे से विवाह , अब करती है प्रेगनेंट होने का दावा जानिए पूरा मामला

    रोज़ाना वायरल होने के लिए ना जाने लोग क्या क्या तरीके अपनाते है, ऐसे ही मेरिवोन रोका मॉरेस सिंगल थीं और उनका...

    अजीब लव स्टोरी: बेटे की एक्स गर्लफ्रेंड से की पिता ने शादी, 11 साल की उमर में मिली थी पहली बार नज़रे ।

    सामने आई है एक बेहद ही चौकाने वाली खबर, चल रही है अलग ही लव स्टोरी, प्रेम कहानी ऐसी कि जानने वाले...

    यहां पर जिंदा लोग कर रहे है अपना अँतिम संस्कार, जानिए क्यों

    हम अक्सर किसी के मरने के बाद होने वाले अंतिम संस्कार के बारे में सुना है लेकिन क्या आपने जिंदे लोगों का अंतिम संस्कार किया जा रहा हो ये सुना है, जवाब में नहीं ही होगा लेकिन ऐसा साउथ कोरिया में हो रहा है।

    साउथ कोरिया की एक कंपनी जिंदा लोगों के लिए फ्यूनरल की पेशकश करती है. जिंदगी को बेहतर बनाने के लिए ह्योवोन हीलिंग नामक कंपनी ने जीते जी अंतिम संस्कार करवाने का ऑफर दिया है।

    आपको बता दे कि दक्षिण कोरिया में लोग जिदंगी को बेहतर ढंग से समझने के लिए मौत का अहसास कर रहे हैं। पिछले सात साल में करीब 25000 लोग जीवित रहते अंतिम संस्कार की प्रक्रिया से गुजर चुके हैं।

    दरअसल लिविंग फ्यूनरल की पेशकश ह्योवोन हीलिंग कंपनी ने 2012 में शुरू की थी। कंपनी का दावा है कि लोग स्वेच्छा से हमारे पास आ रहे हैं। उन्हें उम्मीद है कि जीवन खत्म होने से पहले मौत का एहसास करके वे अपनी जिंदगी को बेहतर बना सकते हैं। इस संबंध में, 75 वर्षीय चो जी हे, का कहना है कि एक बार जब आप मौत का एहसास करते हैं, तो आप जीवन पर एक नया दृष्टिकोण अपनाते हैं।

    उन्होंने हाल ही में लिविंग फ्यूनरल में अपना अंतिम संस्कार किया। वहीं 15 लिविंग फ्यूनरल ’में 15 वर्ष से 75 वर्ष तक के लोग भाग ले सकते हैं। ये सभी लोग 10 मिनट के लिए ताबूतों में बंद रहते हैं। इस बीच, अंतिम संस्कार के सभी संस्कार पूरे हो जाते हैं।

    दक्षिण कोरिया 40 देशों में अर्थशास्त्र सहयोग और विकास के बेहतर जीवन सूचकांक सर्वेक्षण के लिए संगठन में 33 वें स्थान पर है। ऐसा पहली बार आपने सुना होगा कि जीवित रहते हुए किसी का अंतिम संस्कार किया जा रहा हो।

    Latest Posts

    टीचर के जज्ज़्बे को सलाम, एक हाथ में बच्चा लिए और एक हाथ में कलम लिए सवार रही है बच्चो का जीवन

    ऐसा समझा जाता है कि मां बनने के बाद औरत कमजोर हो जाती है और वह अपने लिए कोई सपने नहीं देख...

    प्लास्टिक बॉटल के माइक ने खोल दी सरकारी स्कूल की पोल …. जानिए कहानी

    भारत में गांव के सरकारी स्कूल की हालत भला किसी से कहां छुपी है , ऐसे में गोड्डा नाम के एक...

    महिला ने किया कपड़े के बने गुड्डे से विवाह , अब करती है प्रेगनेंट होने का दावा जानिए पूरा मामला

    रोज़ाना वायरल होने के लिए ना जाने लोग क्या क्या तरीके अपनाते है, ऐसे ही मेरिवोन रोका मॉरेस सिंगल थीं और उनका...

    अजीब लव स्टोरी: बेटे की एक्स गर्लफ्रेंड से की पिता ने शादी, 11 साल की उमर में मिली थी पहली बार नज़रे ।

    सामने आई है एक बेहद ही चौकाने वाली खबर, चल रही है अलग ही लव स्टोरी, प्रेम कहानी ऐसी कि जानने वाले...

    Don't Miss

    फरीदाबाद में सीवर लीकेज से परेशान हैं शहरवासी, सीएम विंडो पर शिकायत के बावज़ूद नहीं हुई कार्यवाही

    फरीदाबाद में कई जगहों पर लोग सीवर जाम और सड़कों पर पानी जाम से परेशान हैं। आपको बता दें फरीदाबाद बड़खल विधानसभा...

    हरियाणा: एक समय पर नौकरी के लिए भटकता था यह किसान, आज खुद लोगों को देता है रोजगार, जानें सफलता की पूरी कहानी

    जब मन में कुछ करने की ठान लेते हैं तो उसे पूरा लिए बिना चैन नहीं आता। अपने आत्मविश्वास से तो इंसान...

    आखिर क्यूं दुखी है शमशेरा के डायरेक्टर कारण मल्होत्रा, सोशल मीडिया पे शेयर करी वजह

    फिल्म 'शमशेरा' के डायरेक्टर करण मल्होत्रा ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर एक दिल को छू लेने वाला इमोशनल नोट शेयर किया।...

    अद्भुत मंदिर: तीन रंगों में बदलता है हरियाणा के इस कुंड का पानी, दीवारों पर संपूर्ण श्री रामचरितमानस, सूर्यग्रहण का भी नहीं कोई असर

    श्री रामचरितमानस अब तक आपने सिर्फ कागज के पन्नो पर ही पढ़ी होगी। लेकिन आज हम आपको हरियाणा में मौजूद एक ऐसे...

    27 साल पहले बेटे ने कह दिया था अलविदा, फिर भी शेखर सुमन हर साल मनाते है जन्मदिन

    शेखर सुमन यह एक ऐसा नाम है फिल्म जगत का, जिन्होंने अपने काम को हमेशा ही बखूबी निभाया। छोटे पर्दे पर काम...

    Stay in touch

    To be updated with all the latest news, offers and special announcements.