31.1 C
Delhi
Sunday, September 19, 2021

खिलौने वाली बंदूक लेकर पति-पत्नी पहुंचे ज्वेलरी शॉप लूटने, जानिये फिर क्या हुआ

आज - कल का ज़माना बदल रहा है। बच्चों की बंदूक लेकर चोरी होने लगी है। आपने चोरी-डकैती के बहुत से किस्से...
More

    Latest Posts

    जब घर बुलाकर Jaya Bachchan ने Rekha से कही थी ऐसी बात,जिसके बाद टूट गया था अमिताभ और रेखा का रिश्ता

    ये इश्क की कहानी आज तक चर्चित है, और शायद आगे भी रहेगी।बतादें, बॉलीवुड की अधूरी प्रेम कहानी का जिक्र जब भी...

    देश में पहली बार : कर्नाटक का सरकारी स्कूल बनेगा सैटेलाइट डिजाइनिंग का हिस्सा,इसरो करेगा मदद

    जी हाँ, ये बात बिल्कुल सही है और इन बच्चों की मदद इसरो करेगा। बतादें, इसरो अब तक छात्रों के 6 सैटेलाइट...

    इस रहस्यमय कुंड में ताली बजाते ही ऊपर उठने लगता है पानी, बड़े-बड़े वैज्ञानिक भी मानते हैं इसे ‘कुदरत का करिश्मा’

    सचमुच दुनिया बड़ी ही करिश्माई है। जिसे जान गए वो आविष्कार और जिसे नहीं पता कर पाए वो चमत्कार। दरअसल, दुनिया में...

    बाइक में हॉस्प‍िटल का पलंग फ‍िट कर बना दी एंबुलेंस, लोगों को दे रहे फ्री सर्विस

    वैसे देखा जाए तो अब कोरोना की दूसरी लहर दम तोड़ चुकी है, लेकिन मामले अभी भी सामने आ रहे हैं। तीसरी...

    यहां पर जिंदा लोग कर रहे है अपना अँतिम संस्कार, जानिए क्यों

    हम अक्सर किसी के मरने के बाद होने वाले अंतिम संस्कार के बारे में सुना है लेकिन क्या आपने जिंदे लोगों का अंतिम संस्कार किया जा रहा हो ये सुना है, जवाब में नहीं ही होगा लेकिन ऐसा साउथ कोरिया में हो रहा है।

    साउथ कोरिया की एक कंपनी जिंदा लोगों के लिए फ्यूनरल की पेशकश करती है. जिंदगी को बेहतर बनाने के लिए ह्योवोन हीलिंग नामक कंपनी ने जीते जी अंतिम संस्कार करवाने का ऑफर दिया है।

    आपको बता दे कि दक्षिण कोरिया में लोग जिदंगी को बेहतर ढंग से समझने के लिए मौत का अहसास कर रहे हैं। पिछले सात साल में करीब 25000 लोग जीवित रहते अंतिम संस्कार की प्रक्रिया से गुजर चुके हैं।

    दरअसल लिविंग फ्यूनरल की पेशकश ह्योवोन हीलिंग कंपनी ने 2012 में शुरू की थी। कंपनी का दावा है कि लोग स्वेच्छा से हमारे पास आ रहे हैं। उन्हें उम्मीद है कि जीवन खत्म होने से पहले मौत का एहसास करके वे अपनी जिंदगी को बेहतर बना सकते हैं। इस संबंध में, 75 वर्षीय चो जी हे, का कहना है कि एक बार जब आप मौत का एहसास करते हैं, तो आप जीवन पर एक नया दृष्टिकोण अपनाते हैं।

    उन्होंने हाल ही में लिविंग फ्यूनरल में अपना अंतिम संस्कार किया। वहीं 15 लिविंग फ्यूनरल ’में 15 वर्ष से 75 वर्ष तक के लोग भाग ले सकते हैं। ये सभी लोग 10 मिनट के लिए ताबूतों में बंद रहते हैं। इस बीच, अंतिम संस्कार के सभी संस्कार पूरे हो जाते हैं।

    दक्षिण कोरिया 40 देशों में अर्थशास्त्र सहयोग और विकास के बेहतर जीवन सूचकांक सर्वेक्षण के लिए संगठन में 33 वें स्थान पर है। ऐसा पहली बार आपने सुना होगा कि जीवित रहते हुए किसी का अंतिम संस्कार किया जा रहा हो।

    Latest Posts

    जब घर बुलाकर Jaya Bachchan ने Rekha से कही थी ऐसी बात,जिसके बाद टूट गया था अमिताभ और रेखा का रिश्ता

    ये इश्क की कहानी आज तक चर्चित है, और शायद आगे भी रहेगी।बतादें, बॉलीवुड की अधूरी प्रेम कहानी का जिक्र जब भी...

    देश में पहली बार : कर्नाटक का सरकारी स्कूल बनेगा सैटेलाइट डिजाइनिंग का हिस्सा,इसरो करेगा मदद

    जी हाँ, ये बात बिल्कुल सही है और इन बच्चों की मदद इसरो करेगा। बतादें, इसरो अब तक छात्रों के 6 सैटेलाइट...

    इस रहस्यमय कुंड में ताली बजाते ही ऊपर उठने लगता है पानी, बड़े-बड़े वैज्ञानिक भी मानते हैं इसे ‘कुदरत का करिश्मा’

    सचमुच दुनिया बड़ी ही करिश्माई है। जिसे जान गए वो आविष्कार और जिसे नहीं पता कर पाए वो चमत्कार। दरअसल, दुनिया में...

    बाइक में हॉस्प‍िटल का पलंग फ‍िट कर बना दी एंबुलेंस, लोगों को दे रहे फ्री सर्विस

    वैसे देखा जाए तो अब कोरोना की दूसरी लहर दम तोड़ चुकी है, लेकिन मामले अभी भी सामने आ रहे हैं। तीसरी...

    Don't Miss

    पत्नी के लिए पति ने चलाई 1300 km स्कूटी, समय पर पहुँचाया परीक्षा केंद्र

    कहा जाता है कि एक सफल पुरुष के पीछे स्त्री का हाथ होता है, लेकिन झारखंड की एक महिला के मामले में...

    खुशी खुशी विदा होकर ससुराल जा रही थी दुल्हन, घर के दरवाजे पर ही हो गई मौत

    माता पिता को बेटी की शादी के बड़े अरमान होते है। बेटी की शादी करना हर एक मां बाप के लिए बड़ी...

    IAS Interview में पूछा गया सवाल: एक हाथ से किसी हाथी को कैसे उठा सकते हैं? जानिए इसका सही जवाब

    सरारी नौकरी पाना हर किसी का सपना होता है. क्यूंकि यह एक ऐसी जॉब है, जिससे आदमी का रुतबा ऊंचा हो जाता...

    छोटी सी किराने की दुकान से लेकर 100 करोड़ के टर्नओवर तक, जानिए कहानी गणेश अग्रवाल की

    अगर दिल मे जुनून हो तो कुछ भी किया जा सकता है। अगर दिल मे कुछ करने की आग होतो दुनिया को...

    आखिर सबसे पहले किसने लिया था चाय का ज़ायका, और कब हुई थी खोज

    'चाय'... जिसके जरिए लोगों के दिन की शुरुआत होती है, कुछ लोगों के लिए चाय एक नशा बन चुका है। चाय एक...

    Stay in touch

    To be updated with all the latest news, offers and special announcements.