21.1 C
Delhi
Monday, December 5, 2022
More

    Latest Posts

    कड़ी मेहनत के बलबूते हरियाणा की इस बेटी ने किया प्रदेश का नाम रोशन, देश की होनहार IPS अधिकारी में है शुमार

    आज के समय में बेटियां हर वो चीज हासिल कर सकती हैं, जो वह चाहती हैं। हर क्षेत्र में वह अपने नाम के झंडे गाड़ रही हैं। खेल हो या देश की रक्षा में भागीदारी, हर जगह बेटियों ने कमाल कर दिखाया है। ऐसी एक बेटी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘स्वॉर्ड ऑफ ऑनर’ से नवाजा (Ranjeeta Sharma was awarded the Sword of Honour) है। भारतीय पुलिस सेवा के RR-72 बैच की अधिकारी रंजीता शर्मा ने ट्रेनिंग के दौरान गृह मंत्रालय का IPS एसोसिएशन स्वॉर्ड आफ ऑनर का अवार्ड प्राप्त किया है। वह देश की पहली महिला अधिकारी हैं जिन्हें स्वॉर्ड ऑफ ऑनर से (Ranjeeta Sharma is the first woman officer of the country to be awarded the Sword of Honor) नवाजा गया है।

    हरियाणा के रेवाड़ी के गांव डहीना की बेटी रंजीता शर्मा 2019 IPS अधिकारी हैं। आउटडोर ट्रेनिंग के आधार पर यह अवार्ड दिया जाता है। 31 जुलाई को प्रधानमंत्री ने रंजीता से पूछा था कि इस उपलब्धि के बाद उन्हें आसपास की बेटियों में क्या बदलाव नजर आया।

    इस पर रंजीता ने कहा कि अपनी बेटियों को प्रेरित करने के लिए कई परिजनों ने उन्हें बुलाया। उन्होंने कहा कि अगर बदलाव लाने में वह कोई भूमिका निभा सकती हैं तो उनको काफी खुशी होगी। अगर वह एक बेटी को भी बदल सकें तो यह उनकी अच्छी किस्मत होगी।

    आईपीएस बैच 2019 RR-72 में देशभर से कुल 144 प्रशिक्षु अधिकारी है। ट्रेनिंग के दौरान रंजीता ने कुल 50 ट्रॉफियों में से आठ ट्रॉफी अपने नाम की थी।

    नरेंद्र मोदी ने रंजीता से विशेष रूप से बातचीत की

    पत्रकार बनना चाहती थी रंजीता

    दीक्षांत समारोह में पीएम नरेंद्र मोदी ने पूरे बैच को संबोधित किया था। इस दौरान उन्होंने रंजीता से विशेष रूप से बातचीत की। उन्होंने पीएम को बताया कि वह पत्रकारिता के क्षेत्र में आगे बढ़ना चाहती थी लेकिन पुलिस सेवा में आ गई।

    आईटी फील्ड में किया 9 साल काम

    रंजीता ने बताया कि आईटी फील्ड में उन्होंने नौ साल काम किया। लेकिन वह कुछ ऐसा करना चाहती थी जिसका व्यापक असर समाज पर पड़े।

    वहीं प्रधानमंत्री ने रंजीता से सवाल पूछते हुए कहा कि आपके क्या कोई ऐसी प्लानिंग बनाई है, जिससे पूरे पुलिस प्रशासन में बदलाव आ सके। इस पर रंजीता ने कहा कि पुलिस सुधारों को लेकर अंतिम दम तक प्रयास करते रहेंगे।

    प्रधानमंत्री ने दी यह सलाह

    अपनी कामयाबी का श्रेय रंजीता ने अपने माता-पिता और दादा को दिया। रंजीता को सलाह देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि आपकी जहां पर भी ड्यूटी हो आप जाकर लड़कियों से मिले। उनको योग कराएं। बगीचे में ले जाकर उन्हें योग की शिक्षा दें। 

    जनता की दोस्त है पुलिस

    इस दौरान रंजीता ने कहा कि अगर किसी काम को आप मन से करोगे तो कामयाबी जरूर मिलेगी। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को विश्वास दिलाते हुए कहा कि वह पुलिस सुधारों को लेकर हर संभव प्रयास करेगी। वहीं लोगों के बीच में भी विश्वास पैदा करेगी कि पुलिस जनता की दोस्त है।

    Latest Posts

    Don't Miss

    Stay in touch

    To be updated with all the latest news, offers and special announcements.