31.1 C
Delhi
Sunday, September 19, 2021

खिलौने वाली बंदूक लेकर पति-पत्नी पहुंचे ज्वेलरी शॉप लूटने, जानिये फिर क्या हुआ

आज - कल का ज़माना बदल रहा है। बच्चों की बंदूक लेकर चोरी होने लगी है। आपने चोरी-डकैती के बहुत से किस्से...
More

    Latest Posts

    जब घर बुलाकर Jaya Bachchan ने Rekha से कही थी ऐसी बात,जिसके बाद टूट गया था अमिताभ और रेखा का रिश्ता

    ये इश्क की कहानी आज तक चर्चित है, और शायद आगे भी रहेगी।बतादें, बॉलीवुड की अधूरी प्रेम कहानी का जिक्र जब भी...

    देश में पहली बार : कर्नाटक का सरकारी स्कूल बनेगा सैटेलाइट डिजाइनिंग का हिस्सा,इसरो करेगा मदद

    जी हाँ, ये बात बिल्कुल सही है और इन बच्चों की मदद इसरो करेगा। बतादें, इसरो अब तक छात्रों के 6 सैटेलाइट...

    इस रहस्यमय कुंड में ताली बजाते ही ऊपर उठने लगता है पानी, बड़े-बड़े वैज्ञानिक भी मानते हैं इसे ‘कुदरत का करिश्मा’

    सचमुच दुनिया बड़ी ही करिश्माई है। जिसे जान गए वो आविष्कार और जिसे नहीं पता कर पाए वो चमत्कार। दरअसल, दुनिया में...

    बाइक में हॉस्प‍िटल का पलंग फ‍िट कर बना दी एंबुलेंस, लोगों को दे रहे फ्री सर्विस

    वैसे देखा जाए तो अब कोरोना की दूसरी लहर दम तोड़ चुकी है, लेकिन मामले अभी भी सामने आ रहे हैं। तीसरी...

    4 साल की उम्र में छोड़ दिया था घर, जाने कौन हैं अंतरिक्ष में जाने वाली भारत की बेटी सिरीशा

    देश के सामने एक बार फिर से वही कहने का मौका है कि ‘म्हारी छोरियां छोरों से कम हैं के’ और ये सच भी है, क्योंकि बेटियों ने हर बार साबित किया है। बतादें, इस बार न्यू मैक्सिको से 34 वर्षीय एरोनॉटिकल इंजीनियर शिरिशा बांदला वर्जिन गैलेक्टिक के अंतरिक्ष यान टू यूनिटी में ब्रिटिश अरबपति रिचर्ड ब्रैनसन और चार अन्य लोगों के साथ अंतरिक्ष के छोर पर पहुंचीं।

    शिरिशा के दादा बांदला रागैया ने कहा, ‘बचपन में उसकी नजर हमेशा आसमान में रहती थी और वह तारों, हवाईजहाज और अंतरिक्ष की तरफ बेहद उत्सुकता से देखती रहती थी। उसका जुनून ऐसा था कि अंतत: वह अंतरिक्ष में गई और यह उसके लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है।

    समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार जब शिरिषा छोटी थीं तो रागैया हैदराबाद में उसकी देखभाल करते थे क्योंकि उसके माता-पिता अमेरिका में बस गए थे। कुछ समय के लिए वह आंध्र प्रदेश के चिराला में अपने नाना-नानी के घर उनके साथ भी रही थी। रागैया ने अपनी पोती की इस उपलब्धि पर गर्व जताते हुए कहा, हम बहुत खुश हैं कि उसका सपना और काफी समय की इच्छा पूरी हुई।

    यह एक महान उपलब्धि है और हमें उस पर गर्व है।अंतरिक्ष में जाने वाली तेलुगू मूल की पहली महिला शिरिषा जब चार साल की थीं तब अपनी बड़ी बहन प्रत्यूषा के साथ माता-पिता के साथ रहने अमेरिका चली गई थीं। शिरिषा के पिता मुरलीधर अपने पिता की तरह एक कृषि वैज्ञानिक हैं और अब वह नई दिल्ली में अमेरिकी दूतावास में पदस्थ हैं।

    उन्होंने अपनी बेटी की इस सफलता को लेकर टिप्पणी की, हम बहुत खुश हैं कि अंतरिक्ष के लिए वर्जिन गैलेक्टिक की उड़ान सफल रही। मैं इससे ज्यादा क्या कह सकता हूं। इस बीच, आंध्र प्रदेश के राज्यपाल विश्वभूषण हरिचंदन और मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने बांदला को उनकी उपलब्धि पर बधाई दी है।

    राज्यपाल ने एक संदेश में कहा, यह पहली तेलुगू लड़की शिरिषा द्वारा एक एतिहासिक सफर था और वह अंतरिक्ष में जाने वाली भारतीय मूल की तीसरी महिला हैं, कल्पना चावला और सुनीता विलियम्स के बाद। मुख्यमंत्री ने एक बयान में कहा कि यह राज्य के लिए गर्व की बात है कि गुंटूर में पैदा हुई शिरिषा ने अंतरिक्ष की उड़ान भरी।

    वहीं, बांदला ने अपने इस अनुभव को ‘अतुल्य’ और ‘जिंदगी बदलने वाला’ करार दिया है। उन्होंने एक साक्षात्कार में कहा, कि मैं अब भी खुद को वहीं महसूस कर रही हैं लेकिन यहां आना काफी अच्छा है। मैं एक बेहतर दुनिया के बारे में सोच रही थी और तब मेरे दिमाग में एक ही शब्द आ सकता था…अतुलनीय।

    वहां से धरती का नजारा देखना जिंदगी बदलने वाला पल होता है…। अंतरिक्ष में जाना और वहां से लौटने तक की पूरी यात्रा शानदार थी। बांदला ने इस पल को बेहद भावनात्मक करार देते हुए कहा, मैं जब छोटी थी तब से अंतरिक्ष में जाने के सपने देख रही थी और वास्तव में यह सपने के सच होने जैसा है।

    खैर चलते-चलते ज़िंदगी में बहुत कुछ उपलब्धि हासिल करने की कोशिश यही बताती है कि कुछ काम ऐसे होते हैं जो देश को दिलों को जोड़ते हैं, वही काम किया है देश की इस बेटी ने। अब आपकी, हमारी बारी है देश के लिए कुछ कर गुज़रने की, कमेंट कीजिए, आपने क्या सोचा है?

    Latest Posts

    जब घर बुलाकर Jaya Bachchan ने Rekha से कही थी ऐसी बात,जिसके बाद टूट गया था अमिताभ और रेखा का रिश्ता

    ये इश्क की कहानी आज तक चर्चित है, और शायद आगे भी रहेगी।बतादें, बॉलीवुड की अधूरी प्रेम कहानी का जिक्र जब भी...

    देश में पहली बार : कर्नाटक का सरकारी स्कूल बनेगा सैटेलाइट डिजाइनिंग का हिस्सा,इसरो करेगा मदद

    जी हाँ, ये बात बिल्कुल सही है और इन बच्चों की मदद इसरो करेगा। बतादें, इसरो अब तक छात्रों के 6 सैटेलाइट...

    इस रहस्यमय कुंड में ताली बजाते ही ऊपर उठने लगता है पानी, बड़े-बड़े वैज्ञानिक भी मानते हैं इसे ‘कुदरत का करिश्मा’

    सचमुच दुनिया बड़ी ही करिश्माई है। जिसे जान गए वो आविष्कार और जिसे नहीं पता कर पाए वो चमत्कार। दरअसल, दुनिया में...

    बाइक में हॉस्प‍िटल का पलंग फ‍िट कर बना दी एंबुलेंस, लोगों को दे रहे फ्री सर्विस

    वैसे देखा जाए तो अब कोरोना की दूसरी लहर दम तोड़ चुकी है, लेकिन मामले अभी भी सामने आ रहे हैं। तीसरी...

    Don't Miss

    यह पुलिसकर्मी बना मजदूरों के बच्चों का मसीहा,कहा- इन्हें मज़दूर नहीं IAS बनाऊँगा

    महामारी के दौरान सभी लोगों को कुछ न कुछ नुकसान जरूर हुआ है। ऐसे में सबसे ज्यादा महामारी का असर बच्चों की...

    शादी के बाद भी मुकेश अंबानी की पत्नी नीता केवल 800 रुपये में काम कर रही थीं

    देश के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी की चर्चा हमेशा होती रहती है। लोग उनके बारे में जानने के लिए उत्सुक रहते...

    एक पिता का त्याग जो भर देगा आपकी आंखों में आँसू, बच्चो को पढ़ने के लिए उठाता है दिन भर बोझा

    हर माता पिता का सपना होता है कि उनका बच्चा पढ़ लिख कर एक अच्छा इंसान बने, ऐसे में माता पिता खूब...

    इस NRI को था शादियों का शौक, चौथी शादी के बाद हुआ गिरफ्तार पांचवी की कर रहा था तैयारी

    शादियों का एनआरआई को कुछ ऐसा शोक चढ़ा कि उसने एक दो नहीं, बल्कि चार शादियां कर डालीं। इस बार वह पांचवी...

    पक्षियों को बिजली के तार पर बैठने पर क्यों नहीं लगता करंट? जानिए इसके पीछे की वजह

    कभी आप लोगों ने सोचा है कि हम अगर बिजली के खुले तारों को हाथ लगा दे तो हमें एक जोरदार झटका...

    Stay in touch

    To be updated with all the latest news, offers and special announcements.