35.1 C
Delhi
Saturday, July 24, 2021

खिलौने वाली बंदूक लेकर पति-पत्नी पहुंचे ज्वेलरी शॉप लूटने, जानिये फिर क्या हुआ

आज - कल का ज़माना बदल रहा है। बच्चों की बंदूक लेकर चोरी होने लगी है। आपने चोरी-डकैती के बहुत से किस्से...
More

    Latest Posts

    विवाह से पहले ही प्रेग्नेंट हो गई थी श्रुति हसन की माँ, पति से मिला था ऐसा धोखा की टूट गई थी सारिका

    बॉलीवुड में कई एक्ट्रेस ऐसी हैं जो बिना शादी किए ही मां बन गईं। इन्हीं में से एक हैं सारिका। सारिका शादी...

    बॉलीवुड में सबसे महंगे हैं शाहरुख खान के बॉडीगार्ड, जानिये कितनी हैं सैलरी

    अगर कोई बड़ा नाम हो जाए उसके बड़े काम से तो उसे अपनी सुरक्षा के लिए किसी बॉडीगार्ड यानी सुरक्षाकर्मी की ज़रूरत...

    राजस्थान: 11 वर्ष के लड़के के केस में 2 तोतों ने दी गवाही, तो SHO सुनाया बड़ा फैसला

    आए दिन सोशल मीडिया पर कुछ न कुछ वायरल होता रहता है। फिलहाल तो पूरी दुनिया में कोविड की खबरें सामने आ...

    विवाहित महिलाओं पर फिदा हुए थे ये 5 भारतीय क्रिकेटर्स, एक को तो दो बच्चों की मां से हुआ था प्यार

    भारतीय क्रिकेट टीम के कुछ स्टार खिलाड़ियों ने ‘प्यार अंधा होता है’ के कहावत को चरितार्थ किया है। टीम इंडिया इन खिलाड़ियों...

    अनोखी परंपरा! मृत्यु के बाद लाश के छोटे-छोटे टुकड़े कर गिद्धों को खिला देते हैं लोग

    धर्म के मुताबिक तो हमने भी अंतिम संस्कार की विधियों के बारे में सुना था, लेकिन अब जो हम आपको बताने जा रहे हैं उसे परंपरा बताते हैं। मौत के बाद इंसान के अंतिम संस्कार की परंपरा के तहत उसे जलाने और दफनाने की परंपराओं के बारे में तो आपने सुना होगा, लेकिन लाशों को गिद्धों को खिलाने की परंपरा के बारे में आपको शायद ही पता होगा।

    यह कोई कहानी नहीं बल्कि समाज में विद्यमान अंतिम संस्कार का रिवाज है। यह परंपरा बौद्ध समुदाय में प्रचलित है। अंतिम संस्कार की इस परंपरा को मानने वाले समुदाय की मान्यता है कि अगर मृत व्यक्ति के शव को गिद्धों को खिलाया जाता है तो उनकी आत्मा भी गिद्धों के उड़ान के साथ स्वर्ग पहुंच जाती है।

    इस परंपरा का नाम नियिंगमा परंपरा ( स्काई बुरियल) है और इसे तिब्बत में मनाया जाता है। इस परंपरा में मौत के बाद लाश के छोटे-छोटे टुकड़े करके गिद्धों के सामने परोस दिया जाता है। इसके बाद मृत व्यक्ति की आत्मा शांति के लिए प्रार्थना की जाती है और तिब्बती ‘बुक ऑफ द डेथ’ पढ़ी जाती है।

    ‘स्काई बुरियल’ की परंपरा के तहत श्मशान के कर्मचारी लाश के टुकड़े करता है और इन टुकड़ों को जौ और आटे के घोल में भिगोकर गिद्धों को खिला देता है। आपको सच बताएं तो, हमने भी पहली बार ये खबर पढ़ी और इस पर रिसर्च की, और उसके बाद जो सच निकलकर सामने आया उसे समझकर, एक बार तो हमारे भी होश उड़ गए थे, लेकिन जैसे-जैसे हम और बारीकी से जानने लगे तो फिर समझ आया कि कैसे लोग परंपरा के नाम पर कुछ भी कर देते हैं और नाम आस्था और परंपरा का लिया जाता है।

    Latest Posts

    विवाह से पहले ही प्रेग्नेंट हो गई थी श्रुति हसन की माँ, पति से मिला था ऐसा धोखा की टूट गई थी सारिका

    बॉलीवुड में कई एक्ट्रेस ऐसी हैं जो बिना शादी किए ही मां बन गईं। इन्हीं में से एक हैं सारिका। सारिका शादी...

    बॉलीवुड में सबसे महंगे हैं शाहरुख खान के बॉडीगार्ड, जानिये कितनी हैं सैलरी

    अगर कोई बड़ा नाम हो जाए उसके बड़े काम से तो उसे अपनी सुरक्षा के लिए किसी बॉडीगार्ड यानी सुरक्षाकर्मी की ज़रूरत...

    राजस्थान: 11 वर्ष के लड़के के केस में 2 तोतों ने दी गवाही, तो SHO सुनाया बड़ा फैसला

    आए दिन सोशल मीडिया पर कुछ न कुछ वायरल होता रहता है। फिलहाल तो पूरी दुनिया में कोविड की खबरें सामने आ...

    विवाहित महिलाओं पर फिदा हुए थे ये 5 भारतीय क्रिकेटर्स, एक को तो दो बच्चों की मां से हुआ था प्यार

    भारतीय क्रिकेट टीम के कुछ स्टार खिलाड़ियों ने ‘प्यार अंधा होता है’ के कहावत को चरितार्थ किया है। टीम इंडिया इन खिलाड़ियों...

    Don't Miss

    11 घंटे से हथनी खोद रही थी मिट्टी, जब सामने आई सच्चाई तो सबके उड़ गए होश

    इंसान हो या जानवर, अपने बच्चों के लिए हर मां एक जैसी चिंता करती है। यह बात सोशल साइट्स पर इन दिनों...

    मंदिर के बाहर दुकान चलाती हैं सीएम योगी की बहन, कुछ इस तरह से हो रहा हैं गुजारा।

    उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से हर कोई वाकिफ है, तो आज हम सीएम के परिवार की बात करेंगे। उससे पहले...

    1.50 करोड़ रुपए की है ‘मोदी’ नाम की यह भेड़, जानिए क्या है इसमें खास

    अब एक ऐसी खबर जिसपर विश्वास कर पाना बेहद मुश्किल है जी हां भेड़ तो आप सबने देखे होंगे, लेकिन क्या आपको...

    20 करोड़ में बना है क्रिकेटर सुरेश रैना का ये शानदार बंगला, अंदर से दिखता है 5 स्टार होटल जैसा

    हिंदुस्तान में क्रिकेट को खूब पसंद किया जाता है। गली गली, मोहल्ले मोहल्ले, नुक्कड़, चौराहों पर सभी जगह लोग क्रिकेट खेलना पसंद...

    बुढ़ापे में बच्चों ने छोड़ा साथ तो सड़क पर पेंटिंग्स बेचकर कर रहे है गुजारा, जानिए बेसहारा पिता की कहानी

    हमारे देश में बड़ों का सम्मान, आदर, सत्कार किया जाता है। लेकिन बहुत सी खबरें इसके बिल्कुल उलट आती हैं, इसलिए कुछ...

    Stay in touch

    To be updated with all the latest news, offers and special announcements.