21.1 C
Delhi
Tuesday, October 19, 2021

खिलौने वाली बंदूक लेकर पति-पत्नी पहुंचे ज्वेलरी शॉप लूटने, जानिये फिर क्या हुआ

आज - कल का ज़माना बदल रहा है। बच्चों की बंदूक लेकर चोरी होने लगी है। आपने चोरी-डकैती के बहुत से किस्से...
More

    Latest Posts

    राज कुंद्रा की जमानत पर पति को इतने दिनों बाद देख भावुक हुई शिल्पा, इस तरह बयान किया दर्द

    शिल्पा शेट्टी के पति और बिजनेसमैन राज कुंद्रा कई दिनों से पोर्नोग्राफी मामले में पुलिस हिरासत में है. अब आखिरकार उन्हे जमानत...

    जब घर बुलाकर Jaya Bachchan ने Rekha से कही थी ऐसी बात,जिसके बाद टूट गया था अमिताभ और रेखा का रिश्ता

    ये इश्क की कहानी आज तक चर्चित है, और शायद आगे भी रहेगी।बतादें, बॉलीवुड की अधूरी प्रेम कहानी का जिक्र जब भी...

    देश में पहली बार : कर्नाटक का सरकारी स्कूल बनेगा सैटेलाइट डिजाइनिंग का हिस्सा,इसरो करेगा मदद

    जी हाँ, ये बात बिल्कुल सही है और इन बच्चों की मदद इसरो करेगा। बतादें, इसरो अब तक छात्रों के 6 सैटेलाइट...

    इस रहस्यमय कुंड में ताली बजाते ही ऊपर उठने लगता है पानी, बड़े-बड़े वैज्ञानिक भी मानते हैं इसे ‘कुदरत का करिश्मा’

    सचमुच दुनिया बड़ी ही करिश्माई है। जिसे जान गए वो आविष्कार और जिसे नहीं पता कर पाए वो चमत्कार। दरअसल, दुनिया में...

    देखिए कैसे ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए पेड़ पर चढ़ा बुज़ुर्ग, कहा यही है मेरा घर

    यूं तो पेड़ों से सबसे ज्यादा ऑक्सीजन मिलती है। सभी को पेड़ ज्यादा से ज्यादा लगाने चाहिए। ना सिर्फ पेड़ लगाने चाहिए, बल्कि उनकी सुरक्षा भी करनी चाहिए, उन्हें सींचना भी चाहिए। लोगों को जागरूक करने के लिए समय-समय पर वृक्षारोपण अभियान चलाया जाता है, पौधारोपण अभियान चलाया जाता है, लेकिन उसके ठीक उलट ज्यादा से ज्यादा जमीन को उजाड़कर, उस पर पैदावार की जगह, पेड़ पौधों की जगह, घर बनाए जा रहे हैं।

    कंपनी, फैक्ट्री, मॉल बनाए जा रहे हैं। बड़ी-बड़ी बिल्डिंग बनाई जा रही हैं, यानी जंगलों को काटा जा रहा है, पेड़ों को काटा जा रहा है, और उसी का कारण है कि प्रकृति के साथ जो कुछ हम कर रहे हैं, वहीं प्रकृति हमको दे रही है। प्रकृति के साथ हम छल कर रहे हैं।

    हम प्रकृति से जो पा रहे हैं वह हम ने ही किया है। उसकी भरपाई हमें करनी पड़ रही है। जब हम सभी जानते हैं, मानते हैं समझते हैं, कि पेड़ों से ही हमेशा ऑक्सीजन मिलती है, तो फिर हम पेड़ों को क्यों काटते हैं। अगर पेड़ों को काटते हैं तो उतने ही पेड़ क्यों नहीं लगाते। उतने ही पेड़ों को क्यों नहीं सींचते।

    अगर ऐसा ही रहा तो भविष्य में पेड़ ना होने की वजह से प्रकृति एकदम ऐसा विकराल रूप लेगी कि, अभी तो महामारी है। उस समय महाप्रलय आएगा। हम आपको इसलिए ये सब बता रहे हैं और यह पूरा माहौल इसलिए आपके लिए हम लेकर आए हैं, पेड़-पौधे-ऑक्सीजन, वृक्षारोपण-पौधारोपण, क्योंकि यह कहानी इसी से जुड़ी हुई है।

    यह खबर इसी से जुड़ी हुई है। इन दिनों कोरोना महामारी की चपेट में लगभग सभी आ रहे हैं। और इस कोरोना वायरस की दूसरी लहर में कोरोना वायरस की वजह से लोगों के लिए ऑक्सीजन की कमी हो रही है।

    जिसकी वजह से ऑक्सीजन नहीं मिल पा रहा है, और लोग दम तोड़ रहे हैं। ऐसे में एक बुजुर्ग ने ऐसा काम किया, कि वह पीपल के पेड़ के ऊपर चढ़ गया। और 24 घंटे उसी पर रहता है। उसने उसी को अपना घर बना लिया, जिससे कि उसके अंदर ऑक्सीजन की कमी ही ना हो। इस तरीके से उसका ऑक्सीजन भी मेंटेन रहता है।

    अब पूरी कहानी क्या है आपको विस्तार से बताते हैं। बतादेंकई लोग ऑक्सीजन की कमी के कारण दम तोड़ रहे हैं। इसी बीच इंदौर के एक बुजुर्ग ने ऑक्सीजन की कमी से बचने के लिए अनोखा तरीका निकाला है और ये बुजुर्ग पूरे दिन पेड़ पर बैठा रहता है।

    इस बुजुर्ग का माना है कि ऐसा करने से शरीर में उसका ऑक्सीजन लेवल सही बना रहेगा और ऑक्सीजन की कमी नहीं होगी। साथ में ही शरीर भी फीट रहेगा। रंगवासा गांव में रहने वाले इस बुजुर्ग का नाम राजेंद्र पाटीदार है और ये अपने परिवार के साथ रहते हैं। इनकी आयु 67 साल की है।

    राजेंद्र पाटीदार रोज शुद्ध ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए गांव के पीपल के पेड़ पर चढ़ जाते हैं और घंटों तक पेड़ पर ही रहते हैं। राजेंद्र पाटीदार ने पीपल के पेड़ पर 15 दिनों से अपना डेरा लगा रखा है और जब जरूरत पड़ती है, तभी पेड़ से नीचे उतरते हैं। इन्होंने पेड़ पर एक मचान बना रखा है।

    जिसपर जाकर ये बैठ जाते हैं। राजेंद्र पाटीदार कहते हैं कि वो एकदम स्वस्थ हैं। उन्हें कोई बीमारी नहीं है। क्योंकि वो शुद्ब ऑक्सीजन लेते हैं। जबसे ऑक्सीजन की किल्लत देश में हुई है तभी से उन्होंने पेड़ पर चढ़ा शुरू किया है।

    ऐसे करने से उन्हें शुद्ध हवा मिलती है और ऑक्सीजन की कमी नहीं होती है। अगर हर कोई अपने आसपास ख़ूब पेड़ लगाए तो यकीन मानिए इतनी जल्दी ऑक्सीजन की कमी किसी को नहीं होगी।

    Latest Posts

    राज कुंद्रा की जमानत पर पति को इतने दिनों बाद देख भावुक हुई शिल्पा, इस तरह बयान किया दर्द

    शिल्पा शेट्टी के पति और बिजनेसमैन राज कुंद्रा कई दिनों से पोर्नोग्राफी मामले में पुलिस हिरासत में है. अब आखिरकार उन्हे जमानत...

    जब घर बुलाकर Jaya Bachchan ने Rekha से कही थी ऐसी बात,जिसके बाद टूट गया था अमिताभ और रेखा का रिश्ता

    ये इश्क की कहानी आज तक चर्चित है, और शायद आगे भी रहेगी।बतादें, बॉलीवुड की अधूरी प्रेम कहानी का जिक्र जब भी...

    देश में पहली बार : कर्नाटक का सरकारी स्कूल बनेगा सैटेलाइट डिजाइनिंग का हिस्सा,इसरो करेगा मदद

    जी हाँ, ये बात बिल्कुल सही है और इन बच्चों की मदद इसरो करेगा। बतादें, इसरो अब तक छात्रों के 6 सैटेलाइट...

    इस रहस्यमय कुंड में ताली बजाते ही ऊपर उठने लगता है पानी, बड़े-बड़े वैज्ञानिक भी मानते हैं इसे ‘कुदरत का करिश्मा’

    सचमुच दुनिया बड़ी ही करिश्माई है। जिसे जान गए वो आविष्कार और जिसे नहीं पता कर पाए वो चमत्कार। दरअसल, दुनिया में...

    Don't Miss

    अभी दुनिया महामारी से नहीं उभरा और आ गयी एक और नई आपदा, नदी किनारे लोगो को दिखे एलियन

    साल 2020 सभी लोगों के लिए भयावह रहा है। जहां जनवरी की शुरुआत ऑस्ट्रेलिया के जंगल में लगी आग से हुई, वहीं...

    एक बंदर के वजह से राजधानी एक्सप्रेस को बीच में पड़ा रोकना, ट्रैन में एक घंटे तक फंसे रहे यात्री

    बिहार के बक्सर में बंदर के उत्पात से करीब एक घंटे तक राजधानी एक्सप्रेस को रोकना पड़ा। चौसा बक्सर रेलखंड के पावनी...

    महामारी से संक्रमित व्यक्ति ने अस्पताल में की शादी, PPE किट पहनकर आई दुल्हन

    महामारी ने पूरी दुनिया में तबाही मचा रखी है। दुनिया भर में कई लोग इससे संक्रमित हुए और कइयों ने जान गवां...

    अभिनेत्री मौनी रॉय की सरकार से अपील कहा ‘स्कूल में हो भगवद गीता की पढ़ाई’, ताकि….

    बॉलीवुड में ज्यादातर ग्लैमर की ही बातें होती हैं। मगर मौनी रॉय आएक ऐसी एक्ट्रेस हैं जो ट्रेंड में रहने के साथ-साथ...

    मध्य प्रदेश के इस कुंड का रहस्य पता नही लगा पाए कई सारे वैज्ञानिक

    देश में कई ऐसी अद्भुत चीजें है जो काफी रहस्यमयी हैं। उन्हीं में से एक है भीभ कुंड। मध्य प्रदेश के छतरपुर...

    Stay in touch

    To be updated with all the latest news, offers and special announcements.