14.1 C
Delhi
Saturday, February 4, 2023
More

    Latest Posts

    भारत का वो आखरी गाँव जहाँ जाकर लोग हो जाते है अमीर, खुल जाता है बन्द किस्मत का दरवाज़ा

    पैसा कमाना रूपए पैसों से परिपूर्ण होना हर किसी के जीवन का मुख्य उद्देश्य होता है। पैसा कमाने के लिए लोग ना जाने कितने प्रयास करते हैं, जी तोड़ मेहनत करते हैं लेकिन इस सबसे बावजूद भी उसे पैसों की कमी से निजात नहीं मिलती है। आज हम आपको भारत की एक ऐसी जगह के बारे में बताने जा रहे हैं जहां केवल जाने मात्र से ही आप धनवान बन सकते हैं।

    एक ऐसा गांव जहां जाने से आपकी किस्मत का बंद ताला खुल सकता है और आपको समस्याओं का अंत हो सकता है। उत्तराखंड और भारत का आखिरी गांव कहा जाने वाला माणा गाँव अपने आप में विश्विख्यात है हिन्दू धर्म में मान्याता है कि जो व्यक्ति इस गाँव एक बार आता है वो दुःख, दरिद्रता, गरीबी को पीछे छोड़ जाता है। हिमालय में बद्रीनाथ से तीन किमी आगे समुद्र तल से 18,000 फुट की ऊँचाई पर बसा है भारत का अंतिम गाँव माणा।

    भारत-तिब्बत सीमा से लगे इस गाँव की सांस्कृतिक विरासत तो महत्त्वपूर्ण है ही, यह अपनी अनूठी परम्पराओं के लिए भी खासा मशहूर है। यहाँ रडंपा जनजाति के लोग निवास करते हैं। आपको बता दे कि इस गांव पर चीन भी नजर बनाए हुए था।

    लेकिन यहां नागरिकों ने चीन के भारी दबाव और लालच के बावजूद इस समूचे क्षेत्र को चीन के प्रभुत्व में आने से बचाकर भारत में शामिल कराने में अहम भूमिका निभाई। समुद्र तल से 10,248 फीट की ऊंचाई पर स्थित यह भारतीय सीमा का अंतिम गांव है।

    पवित्र बदरीनाथ धाम से 3 किमी आगे भारत और तिब्बत की सीमा स्थित इस यह गांव का नाम भगवान शिव के भक्त मणिभद्र देव के नाम पर पड़ा था।

    वहीं गांव को आज भी सुरक्षित रखने के लिए यहां के लोगों ने काफी संघर्ष किया है। गांव वाले बताते हैं कि चीनी हुकूमत ने गांव पर कब्ज़ा करने के लिए उन पर कई तरह के दवाब डाले और इतना ही नहीं उन्हें काफी लालच भी दिया। लेकिन गांव वाले चीन के इरादों को भांपते हुए उनके झांसे में आने से बच गए।

    Latest Posts

    Don't Miss

    Stay in touch

    To be updated with all the latest news, offers and special announcements.