34.1 C
Delhi
Monday, May 16, 2022

लाख राशन दे या बनवा दे मकान मुस्लिम मतदाता ने साबित किया कि वें हमेशा भाजपा विरोधी रहेंगे

उप्र चुनाव में विशेषकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश में आंकड़ों पर नजर डाली आये तो मुस्लिम बाहुल्य ७१ सीटों में से ६७...
More

    Latest Posts

    हरियाणा-दिल्ली NCR से लद्दाख जाना अब होगा आसान, शुरू हुई स्पेशल बस सर्विस, जानें किराए से लेकर टाइमिंग तक सब कुछ

    गर्मी के दिनों में हर किसी का मन पहाड़ों पर जाने के लिए करता है। लेकिन कई बार जितनी खूबसूरत मंजिल...

    तीसरा बच्चा पैदा करने पर 11 लाख का बोनस और साल भर की छुट्टी, पढ़ें क्या है यह नई पॉलिसी

    एक ओर जहां भारत में बढ़ती हुई जनसंख्या (Population Explosion) एक बहुत बड़ी समस्या बन चुकी है, वहीं पड़ोसी देश चीन में बुजुर्गों की...

    इस योजना के तहत प्रदेश की बेटियों को सरकार देगी 25000 रुपए, ऐसे उठाएं लाभ

    बेटियों की शिक्षा के लिए केंद्र सरकार और राज्य की सरकारें कई तरह की योजनाएं लाती रहती हैं। ऐसी ही राज्य सरकार...

    10वीं पास, ग्रेजुएट युवाओं के लिए बिजली विभाग में निकली भर्तियां, ऐसे करें अप्लाई

    तेलंगाना स्टेट साउदर्न पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड (TSSPDCL) में जूनियर लाइनमैन, जूनियर इंजीनियर और सब इंजीनियर पदों पर नौकरियां हैं। इन पदों...

    इस सड़क के निर्माण में 10 लाख लोगों की गई थी जान, वजह जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान

    आमतौर पर सड़क बनाने में ईंट, पत्थर, सीमेंट, बालू इन सबका इस्तेमाल किया जाता है। अगर आपको पता चले कि किसी सड़क को बनाने में हड्डियों का इस्तेमाल किया गया है, तो क्या आप यकीन करेंगे? यह जानकर यकीनन आपको हैरानी तो हो रही होगी, लेकिन ये बिल्कुल सच है। हड्डियों के इस्तेमाल की वजह से इस सड़क को ‘रोड ऑफ बोन्स’ के नाम से जाना जाता है।

    यह सड़क वास्तव में एक राजमार्ग है, जो रूस के सुदूर पूर्वी भाग में स्थित है। इसका असली नाम कोलामाया हाईवे है, जो 2,025 किलोमीटर लंबा है। बताया जा रहा है कि ठंड के मौसम में बर्फ से जम जाने वाले इस इलाके में सड़क पर गाड़‍ियां न फिसलें, इसके लिए इंसानी हड्डियों को बालू के साथ मिलाकर उसके ऊपर डाला गया है।

    स्‍टालिन के समय में बनाए गए इस हाइवे के निर्माण की कहानी बहुत ही भयावह है जिसमें ढाई लाख से लेकर 10 लाख लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा।यह हाइवे पश्चिम में निझने बेस्‍टयाख को पूर्व में मगडान से जोड़ता है।

    एक समय में कोलयमा तक केवल समुद्र या प्‍लेन के जरिए ही पहुंचा जा सकता था। वर्ष 1930 के दशक में सोवियत संघ में स्‍टालिन के तानशाही के दौरान इस हाइवे निर्माण शुरू हुआ।

    दरअसल, 1930 में जब इस हाइवे का निर्माण शुरू हुआ तो इस काम में बंधुआ मजदूरों और कैदियों को लगाया गया। जिन्हें कोलयमा कैंप में बंधक बनाकर रखा गया था। कोलयमा कैंप में अगर कोई कैदी एक बार चला जाता था, तो उसका वहां से लौटना नामुमकिन हो जाता था।

    जो लोग वहां से भागने की कोशिश करते थे, वो या तो भालुओं का शिकार हो जाते थे या फिर भयंकर ठंड और भूख से मर जाते थे। जो कैदी मर जाते थे, उन्हें वहीं सड़क के अंदर ही दफन कर दिया जाता था। जिस वजह से यहां अक्सर इंसानों की हड्डियां मिलती हैं और इस सड़क को ‘रोड ऑफ बोन्स’ के नाम से जाना जाता है।

    Latest Posts

    हरियाणा-दिल्ली NCR से लद्दाख जाना अब होगा आसान, शुरू हुई स्पेशल बस सर्विस, जानें किराए से लेकर टाइमिंग तक सब कुछ

    गर्मी के दिनों में हर किसी का मन पहाड़ों पर जाने के लिए करता है। लेकिन कई बार जितनी खूबसूरत मंजिल...

    तीसरा बच्चा पैदा करने पर 11 लाख का बोनस और साल भर की छुट्टी, पढ़ें क्या है यह नई पॉलिसी

    एक ओर जहां भारत में बढ़ती हुई जनसंख्या (Population Explosion) एक बहुत बड़ी समस्या बन चुकी है, वहीं पड़ोसी देश चीन में बुजुर्गों की...

    इस योजना के तहत प्रदेश की बेटियों को सरकार देगी 25000 रुपए, ऐसे उठाएं लाभ

    बेटियों की शिक्षा के लिए केंद्र सरकार और राज्य की सरकारें कई तरह की योजनाएं लाती रहती हैं। ऐसी ही राज्य सरकार...

    10वीं पास, ग्रेजुएट युवाओं के लिए बिजली विभाग में निकली भर्तियां, ऐसे करें अप्लाई

    तेलंगाना स्टेट साउदर्न पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड (TSSPDCL) में जूनियर लाइनमैन, जूनियर इंजीनियर और सब इंजीनियर पदों पर नौकरियां हैं। इन पदों...

    Don't Miss

    20 लाख खर्च कर खुद को जीती-जागती पेंटिंग बना चुकी है महिला, बॉडी देखकर लोग मारते हैं बोलते है….

    हर कोई अपनी खूबसूरती को निखारने के लिए कई तरह के उपाय करता है क्योंकि खूबसूरती को लेकर हर किसी के अलग...

    4 साल की उम्र में छोड़ दिया था घर, जाने कौन हैं अंतरिक्ष में जाने वाली भारत की बेटी सिरीशा

    देश के सामने एक बार फिर से वही कहने का मौका है कि 'म्हारी छोरियां छोरों से कम हैं के' और ये...

    याद है वो लैंड करा दे वाला बंदा, बस कुछ ऐसा ही है इस लडकी का वीडियो

    आए दिन सोशल मीडिया पर कोई न कोई वीडियो वायरल हो ही जाता है जिसके बाद वो शख्स स्टार बन जाता है।...

    महिला को विमान के अंदर लगी गर्मी, फिर ठंडी हवा के लिए खोल दीया इमरजेंसी गेट

    आजकल विमान से सफर करना आम बात हो गया है। हर कोई विमान से सफर करना चाहता है। ऐसे में विमान से...

    ये लड़की केवल अपने पैरों को दिखाकर ही कमाती है लाखों रूपये

    आजकल के जमाने में पैसे कमाने के लिए लोगों में होड़ मची हुई है। पैसे कमाने के लिए कुछ गलत यो कुछ...

    Stay in touch

    To be updated with all the latest news, offers and special announcements.